• Uploaded @ : 10 months ago
  • Pages: 200
  • Size: 27.66 MB
  • Scan: Good
  • Views: 1582
  • Download: 419
गुरु विरजानन्द दण्डी जीवन एवं दर्शन

Guru Virjanand Dandi Jeevan evm Darshan

By : Professor Dr. Ram Prakash In : Hindi

समय आने पर जिस दयानन्द के समक्ष सभी पण्डित, आचार्य, वैयाकरण, योगी, यति, पादरी, मौलवी, मठाधीश तथा आस्तिक, नास्तिक एवं संशयवादी चिन्तक निस्तेज और निष्प्रभ सिद्ध हुए, उसकी प्रतिभा जिस प्रतिभा के सामने हतप्रभ हुई थी, उसके पाण्डित्य ने जिसके पाण्डित्य का लोहा माना था, उसकी विचारशक्ति ने जिसकी विचारशक्ति का अनुसरण किया था; कैसा अद्भुत होगा ऐसी प्रतिभा, पाण्डित्य व विचारशक्ति का स्वामी वह दण्डी साधु!

i: प्रस्तावना
viii: पुनश्च
ix: आभार
1: बाल्यकाल
10:परिभ्रमण
22:सोरों वास
27:अलवर प्रवास
35:सोरों पुनर्वास
39:मथुरा निवास
50:1857 की क्रान्ति
56:युगान्तर
71: आर्षग्रन्थ अभियान
79:दयानन्द पदार्पण
95:शिष्य मण्डल
104:रचनाएँ
115: व्यक्तित्व
119:संघर्षरत
125:प्रतीक्षारत
141: शत-शत नमन
145: परिशिष्ट 1 : दण्डीजी की पाठशाला
148 : परिशिष्ट 2: दण्डीजी विषयक कवित्त
150 : परिशिष्ट 3 : सार्वभौम सभा-विवरणपत्र
161 : परिशिष्ट 4 : दण्डीजी का जयपुर नरेश को पत्र
171:परिशिष्ट 5 : सन्दर्भ ग्रन्थ सूची
177 : लेखक परिचय

  • Title : गुरु विरजानन्द दण्डी जीवन एवं दर्शन


    Sub Title : N/A


    Series Title : N/A


    Language : Hindi


    Category :


    Subject : विरजानन्द के विषय में


    Author 1 : प्रो. डॉ. रामप्रकाश


    Author 2 : N/A


    Translator : N/A


    Editor : N/A


    Commentator : N/A


    Publisher : Dr Rajendra Vidyalankar


    Edition : 2nd Edition


    Publish Year : 2006


    Publish City : Kurukshetra


    ISBN # : N/A


    http://vediclibrary.in/book/guru-virjanand-dandi-jeevan-evm-darshan

Author's Other Books